बिहार में आकाशीय बिजली का तांडव: 34 की मौत पर पीएम मोदी ने जताया शोक, कही यह बात

0
23


सार

बिहार में आकाशीय बिजली से 34 लोगों की मौत हो गई। जिसपर शोक जताते हुए पीएम मोदी ने कहा आंधी एवं बिजली गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मृत्यु से अत्यंत दुख हुआ है। ईश्वर शोक-संतप्त परिवारों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति दे। 

ख़बर सुनें

बिहार में गुरुवार को आए आंधी-तूफान के बीच आकाशीय बिजली गिरने से 16 जिलों में 34 लोगों की मौत हो गई। जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने शोक जताया है। मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये आर्थिक मदद के तौर पर देने की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री नेरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, बिहार के कई जिलों में आंधी एवं बिजली गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मृत्यु से अत्यंत दुख हुआ है। ईश्वर शोक-संतप्त परिवारों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति दे। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटा है।
 
गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, बिहार के विभिन्न जिलों में तेज आंधी एवं बिजली गिरने से हुई जनहानि अत्यंत दुःखद है। इस प्राकृतिक आपदा के कारण जिन लोगों ने अपनों को खोया है मैं उनके प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ। स्थानीय प्रशासन पीड़ितों को हर सम्भव मदद पहुँचाने के लिए तत्परता से लगा हुआ है।

वहीं बिहार की उप मुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि बिहार में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि से 34 लोगों की मृत्यु हुई है। इसी आपदा में 3 मवेशियों की भी मृत्यु हुई। आपदा में सरकार की तरफ से अनुग्रह राशि 4 लाख रुपये दी जाती है वो अबतक 16 लोगों को दी गया है और बाकियों को भी जल्द दे दिया जाएगा।

भागलपुर में सबसे ज्यादा मौतें
बिहार में आंधी-तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान भागलपुर में हुआ है। यहां आकाशीय बिजली के कारण सात लोगों की मौत हुई है। मुजफ्फरपुर में छह लोगों की मौत की सूचना है। दरअसल, बिहार में गुरुवार दोपहर अचानक से मौसम बदलने के बाद यहां बारिश के साथ आंधी शुरू हो गई। इसके बाद कई जगहों पर पेड़ गिर गए और बिजली बाधित रही। 

विस्तार

बिहार में गुरुवार को आए आंधी-तूफान के बीच आकाशीय बिजली गिरने से 16 जिलों में 34 लोगों की मौत हो गई। जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने शोक जताया है। मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये आर्थिक मदद के तौर पर देने की घोषणा की है।

प्रधानमंत्री नेरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा, बिहार के कई जिलों में आंधी एवं बिजली गिरने की घटनाओं में कई लोगों की मृत्यु से अत्यंत दुख हुआ है। ईश्वर शोक-संतप्त परिवारों को इस अपार दुख को सहने की शक्ति दे। राज्य सरकार की देखरेख में स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव कार्य में तत्परता से जुटा है।

 

गृहमंत्री अमित शाह ने कहा, बिहार के विभिन्न जिलों में तेज आंधी एवं बिजली गिरने से हुई जनहानि अत्यंत दुःखद है। इस प्राकृतिक आपदा के कारण जिन लोगों ने अपनों को खोया है मैं उनके प्रति संवेदना व्यक्त करता हूँ। स्थानीय प्रशासन पीड़ितों को हर सम्भव मदद पहुँचाने के लिए तत्परता से लगा हुआ है।

वहीं बिहार की उप मुख्यमंत्री रेणु देवी ने कहा कि बिहार में आंधी-तूफान और ओलावृष्टि से 34 लोगों की मृत्यु हुई है। इसी आपदा में 3 मवेशियों की भी मृत्यु हुई। आपदा में सरकार की तरफ से अनुग्रह राशि 4 लाख रुपये दी जाती है वो अबतक 16 लोगों को दी गया है और बाकियों को भी जल्द दे दिया जाएगा।

भागलपुर में सबसे ज्यादा मौतें

बिहार में आंधी-तूफान से सबसे ज्यादा नुकसान भागलपुर में हुआ है। यहां आकाशीय बिजली के कारण सात लोगों की मौत हुई है। मुजफ्फरपुर में छह लोगों की मौत की सूचना है। दरअसल, बिहार में गुरुवार दोपहर अचानक से मौसम बदलने के बाद यहां बारिश के साथ आंधी शुरू हो गई। इसके बाद कई जगहों पर पेड़ गिर गए और बिजली बाधित रही। 

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here