Bihar: अवैध पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट, पांच में से दो बच्चों की मौत

0
18


ख़बर सुनें

बिहार के सारण जिले में रविवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां एक अवैध पटाखा इकाई में हुए भीषण विस्फोट में दो बच्चों और एक महिला सहित कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। सारण के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि खोदाईबाग बाजार में जिस तीन मंजिला इमारत में अवैध पटाखा फैक्ट्री चल रही थी, वह ढह गई।

उन्होंने कहा कि विस्फोट के सही कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन आशंका है कि घर के अंदर रखे एलपीजी सिलेंडर में भी विस्फोट हो गया। 22 वर्षीय शब्बीर हुसैन के रूप में पहचानी गई  अवैध फैक्ट्री के मालिक की मौके पर ही मौत हो गई। अन्य मृतकों में 35 वर्षीय मुलाजिम, 32 वर्षीय शबाना खातून और पांच वर्षीय शाजाद शामिल हैं। उन्होंने कहा कि घटना में मरने वाले एक और चार साल के बच्चे की पहचान नहीं हो पाई है। 

अधिकारी ने बताया कि घटना में घायल हुए चार अन्य लोगों में से एक महिला की हालत गंभीर है और उसे बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि मलबे के नीचे से फंसे लोगों, यदि कोई हो, को बचाने के लिए अभियान जारी है। पटना के फोरेंसिक विशेषज्ञ जांच में स्थानीय पुलिस की सहायता कर रहे हैं।

विस्तार

बिहार के सारण जिले में रविवार को बड़ा हादसा हो गया। यहां एक अवैध पटाखा इकाई में हुए भीषण विस्फोट में दो बच्चों और एक महिला सहित कम से कम पांच लोगों की मौत हो गई और चार अन्य घायल हो गए। सारण के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि खोदाईबाग बाजार में जिस तीन मंजिला इमारत में अवैध पटाखा फैक्ट्री चल रही थी, वह ढह गई।

उन्होंने कहा कि विस्फोट के सही कारणों का अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन आशंका है कि घर के अंदर रखे एलपीजी सिलेंडर में भी विस्फोट हो गया। 22 वर्षीय शब्बीर हुसैन के रूप में पहचानी गई  अवैध फैक्ट्री के मालिक की मौके पर ही मौत हो गई। अन्य मृतकों में 35 वर्षीय मुलाजिम, 32 वर्षीय शबाना खातून और पांच वर्षीय शाजाद शामिल हैं। उन्होंने कहा कि घटना में मरने वाले एक और चार साल के बच्चे की पहचान नहीं हो पाई है। 

अधिकारी ने बताया कि घटना में घायल हुए चार अन्य लोगों में से एक महिला की हालत गंभीर है और उसे बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि मलबे के नीचे से फंसे लोगों, यदि कोई हो, को बचाने के लिए अभियान जारी है। पटना के फोरेंसिक विशेषज्ञ जांच में स्थानीय पुलिस की सहायता कर रहे हैं।

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here