Bihar: जहरीली शराब पीने से औरंगाबाद और गया में 10 की मौत, अब तक 67 गिरफ्तार

0
22


सार

बिहार में शराब का सेवन और बिक्री प्रतिबंधित है लेकिन औरंगाबाद और गया जिले में कथित रूप से जहरीली शराब पीने से कुल 10 लोगों की मौत होने की जानकारी सामने आई है।

ख़बर सुनें

बिहार के औरंगाबाद जिले में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गई है। समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार औरंगाबाद एसपी कांतेश कुमार मिश्रा के मुताबिक सभी मौतें मदनपुर ब्लॉक में हुई हैं। पुलिस ने बड़े स्तर पर अभियान चलाया है और 67 को गिरफ्तार किया है। वहीं गया में भी शराब पीने से तीन लोगों की मौत हुई है। 

समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार मिश्रा ने बताया कि तीन लोगों की मौत सोमवार को हुई थी और दो की मौत इससे एक दिन पहले हुई थी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा शराब पीने के बाद दो लोगों की तबीयत भी बिगड़ गई थी। 

गया में तीन की मौत 
खबरों के मुताबिक, गया जिले के आमस थाना क्षेत्र के पथरा गांव में जहरीली शराब पीने से सोमवार की रात चाचा-भतीजा सहित तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं एक दर्जन लोग बीमार हैं। मरने से पहले दो लोगों के आंखों की रोशनी भी चली गई थी। सोमवार की शाम को लोगों ने शराब पी थी। इसके कुछ देर के बाद ही सबकी तबीयत धीरे-धीरे खराब होने लगी। सभी को अस्पताल पहुंचाया गया। 

पुलिस को सूचना मिलने से पहले ही कर दिया गया अंतिम संस्कार
एसपी ने कहा कि मृत्यु का कारण बताना संभव नहीं है क्योंकि उनके परिजनों ने पुलिस को सूचना मिलने से पहले ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया था। उन्होंने कहा कि हमें शराबबंदी कानून का घोर उल्लंघन कर क्षेत्र में नकली शराब की बिक्री की कई शिकायतें मिली हैं, जिन पर कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने कहा कि अभी तक हम कई अवैध शराब फैक्टरियां नष्ट कर चुके हैं और 67 संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सीएम नीतीश कुमार की सरकार ने अप्रैल 2016 में शराब के सेवन और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, अभी भी बड़े पैमाने पर राज्य में अवैध शराब का कारोबार हो रहा है।

विस्तार

बिहार के औरंगाबाद जिले में कथित तौर पर जहरीली शराब पीने से सात लोगों की मौत हो गई है। समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार औरंगाबाद एसपी कांतेश कुमार मिश्रा के मुताबिक सभी मौतें मदनपुर ब्लॉक में हुई हैं। पुलिस ने बड़े स्तर पर अभियान चलाया है और 67 को गिरफ्तार किया है। वहीं गया में भी शराब पीने से तीन लोगों की मौत हुई है। 

समाचार एजेंसी पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार मिश्रा ने बताया कि तीन लोगों की मौत सोमवार को हुई थी और दो की मौत इससे एक दिन पहले हुई थी। उन्होंने बताया कि इसके अलावा शराब पीने के बाद दो लोगों की तबीयत भी बिगड़ गई थी। 

गया में तीन की मौत 

खबरों के मुताबिक, गया जिले के आमस थाना क्षेत्र के पथरा गांव में जहरीली शराब पीने से सोमवार की रात चाचा-भतीजा सहित तीन लोगों की मौत हो गई। वहीं एक दर्जन लोग बीमार हैं। मरने से पहले दो लोगों के आंखों की रोशनी भी चली गई थी। सोमवार की शाम को लोगों ने शराब पी थी। इसके कुछ देर के बाद ही सबकी तबीयत धीरे-धीरे खराब होने लगी। सभी को अस्पताल पहुंचाया गया। 

पुलिस को सूचना मिलने से पहले ही कर दिया गया अंतिम संस्कार

एसपी ने कहा कि मृत्यु का कारण बताना संभव नहीं है क्योंकि उनके परिजनों ने पुलिस को सूचना मिलने से पहले ही शवों का अंतिम संस्कार कर दिया था। उन्होंने कहा कि हमें शराबबंदी कानून का घोर उल्लंघन कर क्षेत्र में नकली शराब की बिक्री की कई शिकायतें मिली हैं, जिन पर कार्रवाई की जा रही है।

उन्होंने कहा कि अभी तक हम कई अवैध शराब फैक्टरियां नष्ट कर चुके हैं और 67 संदिग्ध लोगों को गिरफ्तार किया गया है। सीएम नीतीश कुमार की सरकार ने अप्रैल 2016 में शराब के सेवन और बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया था। हालांकि, अभी भी बड़े पैमाने पर राज्य में अवैध शराब का कारोबार हो रहा है।

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here