Bihar: RJD के अयोग्य विधायक अनंत कुमार सिंह को 10 साल की सजा, अदालत के फैसले के खिलाफ जाएंगे हाईकोर्ट

0
25


ख़बर सुनें

बिहार के बाहुबली नेता और आरजेडी के पूर्व विधायक अनंत कुमार सिंह  को 10 साल की सजा सुनाई गई है। अनंत कुमार सिंह को एमपी-एमएलए विशेष कोर्ट ने गुरुवार को यह सजा दी है। कोर्ट ने उन्हें सरकारी आवास से विस्फोटक हथियारों की बरामदगी के मामले में आरोपी ठहराते हुए 10 साल के कठोर कारावास की सजा दी है।  इससे पहले अपने गांव के पैतृक घर में एके-47 रखने के मामले में  उन्हें इतनी ही सजा मिल चुकी है। 

अनंत कुमार सिंह बिहार के सबसे खूंखार गैंगस्टर से राजनेता बने हैं। 2015 में पटना में उनके सरकारी आवास से कुछ हथगोले,गोला-बारूद और बुलेट प्रूफ जैकेट की बरामदगी हुई थी। इससे संबंधित मामले में एमपी/एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश त्रिलोकी नाथ दुबे ने सजा सुनाई।

 इससे पहले, राजधानी पटना से लगभग 100 किलोमीटर दूर मोकामा में उनके पैतृक निवास से एके -47 राइफल, रॉकेट लॉन्चर और हथगोले की बरामदगी से संबंधित 2019 के एक मामले में भी सजा मिल चुकी है। इस मामले में जून में अदालत ने उन्हें इतनी ही सजा सुनाई थी। मोकामा मामले में उनकी दोषसिद्धि के मद्देनजर उन्हें विधानसभा द्वारा 14 जुलाई की अधिसूचना के तहत अयोग्य घोषित कर दिया गया था।

वहीं सजा सुनाए जाने के बाद अनंत सिंह ने कहा कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा. उन्हें न्याय जरूर मिलेगा. अनंत सिंह ने कहा कि पुलिस सरकार का नौकर है सरकार से हमारी लड़ाई है. सरकार जो आदेश देगा वो पुलिस करेगी.हमकों जबरदस्ती फंसाया जा रहा है. हम 20 साल से घर नहीं गये हैं पटना में ही रहते थे इसके बावजूद मुझे फंसाया गया है। इस दौरान उन्होंने न्यायधीश के खिलाफ भी टिप्प्णी की। ऐसे में माना जा रहा है कि कैमरे पर की गई टिप्पणियों के लिए पूर्व विधायक पर अदालत की अवमानना का आरोप लगाया जा सकता है।

इस बीच, अनंत सिंह के वकील सुनील कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि हमने पिछली सजा के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील की थी। हम इस मामले में ऐसा करेंगे। मेरा मुवक्किल निर्दोष है।

गौरतलब है कि पूर्व विधायक अनंत सिंह निर्दलीय के रूप में लगातार पांच बार मोकामा विधानसभा से विधायक बने हैं। इसके अलावा  उन्होंने लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजद और जद (यू) के टिकट पर भी जीत हासिल की है। अब उनकी विधायकी जाने के बाद मोकामा में उपचुनाव होंगे। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि आरजेडी मोकामा से उनकी पत्नी को उम्मीदवार बना सकती हैं। 

विस्तार

बिहार के बाहुबली नेता और आरजेडी के पूर्व विधायक अनंत कुमार सिंह  को 10 साल की सजा सुनाई गई है। अनंत कुमार सिंह को एमपी-एमएलए विशेष कोर्ट ने गुरुवार को यह सजा दी है। कोर्ट ने उन्हें सरकारी आवास से विस्फोटक हथियारों की बरामदगी के मामले में आरोपी ठहराते हुए 10 साल के कठोर कारावास की सजा दी है।  इससे पहले अपने गांव के पैतृक घर में एके-47 रखने के मामले में  उन्हें इतनी ही सजा मिल चुकी है। 

अनंत कुमार सिंह बिहार के सबसे खूंखार गैंगस्टर से राजनेता बने हैं। 2015 में पटना में उनके सरकारी आवास से कुछ हथगोले,गोला-बारूद और बुलेट प्रूफ जैकेट की बरामदगी हुई थी। इससे संबंधित मामले में एमपी/एमएलए कोर्ट के विशेष न्यायाधीश त्रिलोकी नाथ दुबे ने सजा सुनाई।

 इससे पहले, राजधानी पटना से लगभग 100 किलोमीटर दूर मोकामा में उनके पैतृक निवास से एके -47 राइफल, रॉकेट लॉन्चर और हथगोले की बरामदगी से संबंधित 2019 के एक मामले में भी सजा मिल चुकी है। इस मामले में जून में अदालत ने उन्हें इतनी ही सजा सुनाई थी। मोकामा मामले में उनकी दोषसिद्धि के मद्देनजर उन्हें विधानसभा द्वारा 14 जुलाई की अधिसूचना के तहत अयोग्य घोषित कर दिया गया था।

वहीं सजा सुनाए जाने के बाद अनंत सिंह ने कहा कि उन्हें न्यायालय पर पूरा भरोसा. उन्हें न्याय जरूर मिलेगा. अनंत सिंह ने कहा कि पुलिस सरकार का नौकर है सरकार से हमारी लड़ाई है. सरकार जो आदेश देगा वो पुलिस करेगी.हमकों जबरदस्ती फंसाया जा रहा है. हम 20 साल से घर नहीं गये हैं पटना में ही रहते थे इसके बावजूद मुझे फंसाया गया है। इस दौरान उन्होंने न्यायधीश के खिलाफ भी टिप्प्णी की। ऐसे में माना जा रहा है कि कैमरे पर की गई टिप्पणियों के लिए पूर्व विधायक पर अदालत की अवमानना का आरोप लगाया जा सकता है।

इस बीच, अनंत सिंह के वकील सुनील कुमार ने संवाददाताओं से कहा कि हमने पिछली सजा के खिलाफ उच्च न्यायालय में अपील की थी। हम इस मामले में ऐसा करेंगे। मेरा मुवक्किल निर्दोष है।

गौरतलब है कि पूर्व विधायक अनंत सिंह निर्दलीय के रूप में लगातार पांच बार मोकामा विधानसभा से विधायक बने हैं। इसके अलावा  उन्होंने लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के राजद और जद (यू) के टिकट पर भी जीत हासिल की है। अब उनकी विधायकी जाने के बाद मोकामा में उपचुनाव होंगे। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि आरजेडी मोकामा से उनकी पत्नी को उम्मीदवार बना सकती हैं। 

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here