Rajya Sabha By-Election: जदयू नेता अनिल हेगड़े ने निर्विरोध राज्यसभा सदस्य निर्वाचित, महेंद्र प्रसाद के निधन के बाद खाली हुई थी सीट

0
24


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, पटना
Published by: विजय पुंडीर
Updated Mon, 23 May 2022 09:20 PM IST

ख़बर सुनें

जेडीयू उम्मीदवार अनिल हेगड़े ने सोमवार को निर्विरोध राज्यसभा सदस्य का चुनाव जीत लिया है। हेगड़े ने बिहार विधानसभा परिसर से अपने विजेता का प्रमाण पत्र ले लिया है। जिसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की। हेगड़े का कार्यकाल 2 अप्रैल 2024 तक है।
 
हेगड़े ने निर्विरोध राज्यसभा सदस्य का चुनाव जीतने के बाद सीएम नीतीश कुमार, राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह का आभार व्यक्त किया। जेडीयू मंत्री श्रवण ने हेगड़े की उम्मीदवारी को लेकर कहा कि जमीनी कार्यकर्ता को उम्मीदवार बनाए जाने पर वह खुश हैं और इसके लिए वह सीएम नीतीश और और ललन सिंह का आभार प्रकट करते हैं।
   
गौरतलब है कि महेंद्र प्रसाद यानी किंग महेंद्र के निधन के बाद यह सीट खाली थी। जेडीयू ने जॉर्ज फर्नांडीस के सहयोगी अनिल हेगड़े को राज्यसभा उपचुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया था। हेगड़े पिछले 38 साल से पार्टी के लिए काम करते आ रहे हैं। जॉर्ज फर्नांडिस के साथ हेगडे बचपन से काम करते आये हैं।

बता दें कि राज्यसभा में उपचुनाव के लिए अनिल हेगडे एकमात्र उम्मीदवार थे, लिहाजा उनका निर्विरोध निर्वाचन तय था। 

जेडीयू उम्मीदवार अनिल हेगड़े ने सोमवार को निर्विरोध राज्यसभा सदस्य का चुनाव जीत लिया है। हेगड़े ने बिहार विधानसभा परिसर से अपने विजेता का प्रमाण पत्र ले लिया है। जिसके बाद उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की। हेगड़े का कार्यकाल 2 अप्रैल 2024 तक है।

 

हेगड़े ने निर्विरोध राज्यसभा सदस्य का चुनाव जीतने के बाद सीएम नीतीश कुमार, राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह, संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह का आभार व्यक्त किया। जेडीयू मंत्री श्रवण ने हेगड़े की उम्मीदवारी को लेकर कहा कि जमीनी कार्यकर्ता को उम्मीदवार बनाए जाने पर वह खुश हैं और इसके लिए वह सीएम नीतीश और और ललन सिंह का आभार प्रकट करते हैं।

   

गौरतलब है कि महेंद्र प्रसाद यानी किंग महेंद्र के निधन के बाद यह सीट खाली थी। जेडीयू ने जॉर्ज फर्नांडीस के सहयोगी अनिल हेगड़े को राज्यसभा उपचुनाव के लिए उम्मीदवार बनाया था। हेगड़े पिछले 38 साल से पार्टी के लिए काम करते आ रहे हैं। जॉर्ज फर्नांडिस के साथ हेगडे बचपन से काम करते आये हैं।

बता दें कि राज्यसभा में उपचुनाव के लिए अनिल हेगडे एकमात्र उम्मीदवार थे, लिहाजा उनका निर्विरोध निर्वाचन तय था। 

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here