Violence in Ranchi: नीतीश सरकार के मंत्री ने बयां किया झारखंड में हुए हमले का दर्द, बोले- भगवान ने मुझे जिंदा रखा

0
12


ख़बर सुनें

जुमे की नमाज के बाद हुए उपद्रव का दंश बिहार के मंत्री नितिन नवीन को रांची में झेलना पड़ा। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ सदस्य और बिहार के सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन उस समय एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने जा रहे थे। इसी दौरान उन पर हमला हुआ। वे बताते हैं कि केवल भगवान ने मुझे बचाया और यह एक बुरा सपना था जो मुझे परेशान करता रहेगा।

गौरतलब है कि पैगंबर के बारे में निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की कथित अपमानजनक टिप्पणी के बाद शुक्रवार को रांची में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए। इस दौरान बिहार के सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन की गाड़ी पर भी हमला किया गया। उन्होंने हमले का पूरा वाकया साझा किया। उन्होंने बताया कि जो मैंने झेला वह एक बुरा सपना था जो मुझे सताता रहेगा। मेरा मानना है कि केवल भगवान ने मुझे बचाया। 

मंत्री ने बताया कि आमतौर पर वह रांची जाते समय स्टेट गेस्ट हाउस में रुकते हैं, लेकिन इस बार उन्होंने 23 जून को मंदार विधानसभा सीट पर उपचुनाव और आदर्श आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए एक होटल में रहना पसंद किया।

उन्होंने बताया कि मेरा एस्कॉर्ट पीछे रह गया था। मेरे साथ कोई पुलिसकर्मी नहीं था। बाद में पुलिस पहुंची तभी प्रदर्शनकारियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। मैं गोलीबारी में फंस गया। मेरी एसयूवी पर चारों तरफ से हमला किया गया। सौभाग्य से मेरा ड्राइवर धीरे-धीरे गाड़ी चलाता रहा। उन्होंने बताया कि रांची में कश्मीर वस्त्रालय तक पहुंचते-पहुंचते उनका वाहन लगभग क्षतिग्रस्त हो चुका था।

इस दौरान बिहार सरकार के मंत्री नवीन ने कहा कि जब प्रशासन को विरोध के बारे में पता था, तो पर्याप्त पुलिस बल कैसे तैनात नहीं कर सका? इस दौरान उन्होंने बताया कि इस संबंध में वे अपनी प्राथमिकी झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा को ई-मेल कर चुके हैं, जिन्होंने उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया है। 

विस्तार

जुमे की नमाज के बाद हुए उपद्रव का दंश बिहार के मंत्री नितिन नवीन को रांची में झेलना पड़ा। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ सदस्य और बिहार के सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन उस समय एक पारिवारिक समारोह में शामिल होने जा रहे थे। इसी दौरान उन पर हमला हुआ। वे बताते हैं कि केवल भगवान ने मुझे बचाया और यह एक बुरा सपना था जो मुझे परेशान करता रहेगा।

गौरतलब है कि पैगंबर के बारे में निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा और नवीन जिंदल की कथित अपमानजनक टिप्पणी के बाद शुक्रवार को रांची में हिंसक विरोध प्रदर्शन हुए। इस दौरान बिहार के सड़क निर्माण मंत्री नितिन नवीन की गाड़ी पर भी हमला किया गया। उन्होंने हमले का पूरा वाकया साझा किया। उन्होंने बताया कि जो मैंने झेला वह एक बुरा सपना था जो मुझे सताता रहेगा। मेरा मानना है कि केवल भगवान ने मुझे बचाया। 

मंत्री ने बताया कि आमतौर पर वह रांची जाते समय स्टेट गेस्ट हाउस में रुकते हैं, लेकिन इस बार उन्होंने 23 जून को मंदार विधानसभा सीट पर उपचुनाव और आदर्श आचार संहिता को ध्यान में रखते हुए एक होटल में रहना पसंद किया।

उन्होंने बताया कि मेरा एस्कॉर्ट पीछे रह गया था। मेरे साथ कोई पुलिसकर्मी नहीं था। बाद में पुलिस पहुंची तभी प्रदर्शनकारियों ने गोलीबारी शुरू कर दी, जिस पर पुलिस ने जवाबी फायरिंग की। मैं गोलीबारी में फंस गया। मेरी एसयूवी पर चारों तरफ से हमला किया गया। सौभाग्य से मेरा ड्राइवर धीरे-धीरे गाड़ी चलाता रहा। उन्होंने बताया कि रांची में कश्मीर वस्त्रालय तक पहुंचते-पहुंचते उनका वाहन लगभग क्षतिग्रस्त हो चुका था।

इस दौरान बिहार सरकार के मंत्री नवीन ने कहा कि जब प्रशासन को विरोध के बारे में पता था, तो पर्याप्त पुलिस बल कैसे तैनात नहीं कर सका? इस दौरान उन्होंने बताया कि इस संबंध में वे अपनी प्राथमिकी झारखंड के डीजीपी नीरज सिन्हा को ई-मेल कर चुके हैं, जिन्होंने उन्हें कार्रवाई का आश्वासन दिया है। 

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here