अररिया में थम नहीं रहा कोरोना से मौतों का सिलसिला: दो पॉजिटिव मरीज सहित चार की ऑक्सीजन लेवल गिर जाने से गई जान

0
22
अररिया में थम नहीं रहा कोरोना से मौतों का सिलसिला: दो पॉजिटिव मरीज सहित चार की ऑक्सीजन लेवल गिर जाने से गई जान


विज्ञापनों के साथ समस्या? विज्ञापनों के बिना दैनिक भास्कर समाचार ऐप इंस्टॉल करें

अररिया37 मिनट पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

क्राउन से लगातार मौतों के कारण अररिया जिले में दहशत।

अररिया जिले में कोविद और कोविद के लक्षणों के कारण हुई 6 मौतों के बाद जिला दहशत में है। सुबह इटरा में 2 मौतों का एक ठंडा मामला भी नहीं था कि शाम तक 4 और मौतें हुईं। इनमें एक महिला शिक्षक और एक अन्य की ताज से मौत हो गई, जबकि एक की मौत बरदाहा और भरगामा में ऑक्सीजन की कमी से हुई।

बागुला पंचायत के वार्ड 08 में रविवार को 55 वर्षीय देव किशोर झा की कोरोनरी संक्रमण से मौत हो गई। कोरोना से हुई मौत की पुष्टि रानीगंज रेफरल अस्पताल के प्रभारी संजय कुमार ने की। जिम्मेदार संजय कुमार ने कहा कि देव किशोर जा कोरोना से संक्रमित थे। रविवार को पूर्णिया में इलाज के दौरान देव किशोर झा की मौत हो गई।

कोविद निदेशक की जांच 4 मई को आयोजित की गई थी
सोमवार को भरगामा के महाठवा स्थित उत्तारगढ़ हाई स्कूल में हेड टीचर रूपा कुमारी का निधन हो गया। परिवार के सदस्यों ने कहा कि महतवा में तबीयत बिगड़ने के बाद पीड़ित को पूर्णिया के एक निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया था। जांच में ताज के लिए सकारात्मक होने के बाद पीड़ित को 4 मई को पूर्णिया सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। परिवार के सदस्यों ने कहा कि पूर्णिया कोविद देखभाल केंद्र में ऑक्सीजन उपचार पर था। सोमवार की सुबह मधेपुरा के करुँरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज की तबीयत बिगड़ने के कारण पूर्णिया मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। रूपा कुमारी की मधेपुरा जाते समय एक आखिरी बार मौत हो गई। दूसरी ओर सिरसा हनुमान गंज कलानंद दास ने भी तबीयत बिगड़ने पर परिजन सीएचसी में भर्ती कराया। सीएचसी भर्ती के दौरान ऑक्सीजन के स्तर में गिरावट के बाद कोविद केयर सेंटर अररिया को निशाना बना रहा है। अररिया में भर्ती होने के बाद उनकी मृत्यु हो गई।

ऑक्सीजन की कमी से बरदाहा के एक व्यवसायी की मौत
बरदाहा एपीएचसी में ऑक्सीजन की कमी के कारण सोमवार को बरदहा के एक किराना व्यवसायी की मौत हो गई। खाद्य व्यवसाय अनिल गुप्ता, 45, का इलाज पूर्णिया के एक निजी क्लिनिक में किया जा रहा है। दोपहर में अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई, जिसे परिजनों द्वारा एपीएचसी बरदाहा ले जाया गया। एपीएचसी बरदहा के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ। अभिनाश कुमार ने कहा कि ऑक्सीजन का स्तर बहुत कम है, यहां ऑक्सीजन नहीं है, इसे तुरंत पीएचसी ले जाएं। परिवार के अकेले होने तक अनिल गुप्ता की रास्ते में ही मौत हो गई।

(अररिया से अमित, संजीव, शंकर और चंदन द्वारा योगदान दिया गया)

और भी खबर है …



Source

Leave a Reply