नीतीश अब आश्रम खोल लें : राजद नेता के बयान पर महागठबंधन में रार, जेडीयू की दो टूक

0
33


ख़बर सुनें

बिहार में महागठबंधन सरकार बने अभी कुछ माह ही बीते हैं और रार शुरू हो गई है। राजद नेता शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को सलाह दी है कि वे अब आश्रम खोल लें और सीएम की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप दें। 
पटना में राजद कार्यालय में बुधवार को आयोजित एक कार्यक्रम में तिवारी ने यह बात कह कर महागठबंधन में बखेड़ा खड़ा कर दिया है। तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार को 2025 में कुर्सी छोड़ देना चाहिए। राजद नेता ने सीएम नीतीश कुमार को पुरानी बातें याद दिलाते हुए कहा ‘नीतीश कुमार ने कहा था कि वह आश्रम खोलेंगे और आश्रम में राजनीतिक प्रशिक्षण देंगे, इसलिए वह नीतीश कुमार को कहेंगे कि आश्रम वाली बात याद रखिएगा। 2025 में तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाइए और उसके बाद आश्रम खोलिए। इस आश्रम में वह भी चलेंगे।‘ 

सुनें क्या कह रहे हैं शिवानंद तिवारी

नीतीशजी अभी आश्रम नहीं खोलेंगे, आप तलाश करें : जदयू
उधर, तिवारी का बयान वायरल होते ही नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने राजद नेता तिवारी को सटीक जवाब दिया। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह ने ट्वीट किया ‘बाबा, नीतीश कुमार जी अभी आश्रम नहीं खोलने वाले हैं, करोड़ों देशवासियों की दुआएं उनके साथ है, जो चाहते हैं कि नीतीश जी सत्ता के ऊंचे से ऊंचे शिखर पर रहते हुए बिहार और देशवासियों की सेवा करते रहें। मुझको लगता है यदि आपको जरूरत है तो कोई और आश्रम की तलाश कर लें।‘

नीतीश कुमार ने कही थी तेजस्वी को आगे बढ़ाने की बात
राजद नेता व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लेकर ताजा बयानबाजी की शुरुआत दरअसल, सीएम नीतीश कुमार के बयान से हुई थी। मंगलवार को एक कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव की ओर इशारा करते हुए कहा था कि वे ‘इन्हीं लोगों‘ को आगे बढ़ाना चाहते हैं। उनकी इस बात को उठाकर शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को पुरानी बातें याद दिलाने का प्रयास करते हुए अपने मन और राजद की महत्वाकांक्षा को भी प्रकट कर दिया। राजद अभी भले नहीं, लेकिन 2025 में तेजस्वी यादव के सिर सीएम का ताज देखना चाहती है। नीतीश कुमार को केंद्रीय राजनीति में भेजकर राजद बिहार में फिर अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहता है। 

विस्तार

बिहार में महागठबंधन सरकार बने अभी कुछ माह ही बीते हैं और रार शुरू हो गई है। राजद नेता शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को सलाह दी है कि वे अब आश्रम खोल लें और सीएम की कुर्सी तेजस्वी यादव को सौंप दें। 

पटना में राजद कार्यालय में बुधवार को आयोजित एक कार्यक्रम में तिवारी ने यह बात कह कर महागठबंधन में बखेड़ा खड़ा कर दिया है। तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार को 2025 में कुर्सी छोड़ देना चाहिए। राजद नेता ने सीएम नीतीश कुमार को पुरानी बातें याद दिलाते हुए कहा ‘नीतीश कुमार ने कहा था कि वह आश्रम खोलेंगे और आश्रम में राजनीतिक प्रशिक्षण देंगे, इसलिए वह नीतीश कुमार को कहेंगे कि आश्रम वाली बात याद रखिएगा। 2025 में तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाइए और उसके बाद आश्रम खोलिए। इस आश्रम में वह भी चलेंगे।‘ 

सुनें क्या कह रहे हैं शिवानंद तिवारी

नीतीशजी अभी आश्रम नहीं खोलेंगे, आप तलाश करें : जदयू

उधर, तिवारी का बयान वायरल होते ही नीतीश कुमार की पार्टी जदयू ने राजद नेता तिवारी को सटीक जवाब दिया। जदयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाह ने ट्वीट किया ‘बाबा, नीतीश कुमार जी अभी आश्रम नहीं खोलने वाले हैं, करोड़ों देशवासियों की दुआएं उनके साथ है, जो चाहते हैं कि नीतीश जी सत्ता के ऊंचे से ऊंचे शिखर पर रहते हुए बिहार और देशवासियों की सेवा करते रहें। मुझको लगता है यदि आपको जरूरत है तो कोई और आश्रम की तलाश कर लें।‘

नीतीश कुमार ने कही थी तेजस्वी को आगे बढ़ाने की बात

राजद नेता व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को लेकर ताजा बयानबाजी की शुरुआत दरअसल, सीएम नीतीश कुमार के बयान से हुई थी। मंगलवार को एक कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव की ओर इशारा करते हुए कहा था कि वे ‘इन्हीं लोगों‘ को आगे बढ़ाना चाहते हैं। उनकी इस बात को उठाकर शिवानंद तिवारी ने नीतीश कुमार को पुरानी बातें याद दिलाने का प्रयास करते हुए अपने मन और राजद की महत्वाकांक्षा को भी प्रकट कर दिया। राजद अभी भले नहीं, लेकिन 2025 में तेजस्वी यादव के सिर सीएम का ताज देखना चाहती है। नीतीश कुमार को केंद्रीय राजनीति में भेजकर राजद बिहार में फिर अपना वर्चस्व स्थापित करना चाहता है। 



S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here