बिहार में घूसखोर पर कार्रवाई: दवा दुकानों के सत्यापन के लिए 2 लाख घूस लेता असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर गिरफ्तार

0
12



सीतामढ़ी में गिरफ्तार असिस्टेंट ड्रग इंस्पेक्टर (सफेद शर्ट में)
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

दो दवा दुकानों के भौतिक सत्यापन के लिए 2 लाख की घूस लेते सीतामढ़ी के असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर नवीन कुमार को गुरुवार को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया। असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर को सीतामढ़ी में किराए के मकान पर आवेदक दुकानदारों को बुलाकर घूस लेते हुए दबोचा गया। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की मुख्यालय टीम ने सीतामढ़ी में यह कार्रवाई छह दिन पहले आई शिकायत की प्राथमिक पड़ताल के बाद की। गुरुवार को सीतामढ़ी में गिरफ्तारी के साथ ही पटना में नवीन कुमार के शेखपुरा मोड़ स्थित दुर्गा आश्रम गली वाले आवास पर भी हाउस सर्च किया। ग्राउंड के अलावा चार तल्ले के इस मकान में तलाशी के दौरान दो जमीन के डीड, 7.49 लाख के जेवरात और 90 हजार नकदी की बरामदगी हुई। देर शाम तक तलाशी जारी रही।   

11 को शिकायत, 16 को केस, 17 को गिरफ्तार
सीतामढ़ी के असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर नवीन कुमार ने सीतामढ़ी के सैदपुर निवासी विनोद कुमार सिंह से उनके प्रतिष्ठान एम्पल रेमेडिज प्राइवेट लिमिटेड के भौतिक सत्यापन कर सकारात्मक रिपोर्ट देने और एक अन्य दुकानदार मुकेश कुमार की दुकान की भी ऐसी ही रिपोर्ट बनाने के लिए रिश्वत की मांग रखी थी। विनोद कुमार सिंह ने इसकी शिकायत 11 नवंबर को निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में की, जिसके बाद प्राथमिक जांच में जब आरोप सही पाया गया तो 16 नवंबर को केस दर्ज करने के बाद ब्यूरो मुख्यालय की टीम से डीएसपी पवन कुमार के नेतृत्व में एक टीम सीतामढ़ी पहुंची। टीम ने सीतामढ़ी के हनुमान नगर वार्ड पुराना 14 स्थित विनोद कुमार गुप्ता के मकान में किराए पर रह रहे नवीन कुमार को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ धर दबोचा।  

चम्मच के साथ सुनहरी कटोरी, दो प्रॉपर्टी के पेपर मिले
इस गिरफ्तारी के साथ पटना में असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर के फ्लैट पर पहुंचकर हाउस सर्च किया तो वहां चम्मच के साथ सुनहरी कटोरी और जेवरातों के अलावा प्रॉपर्टी के कागजात हाथ लगे। प्राथमिक तौर पर सामने आया कि 250 ग्राम ज्वेलरी और एक किलो चांदी बरामद हुई है। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी मो. खुर्शीद आलम ने पटना में हाउस सर्च के बाद बताया कि घूसखोरी के आरोप की जांच करने के लिए पटना से ही टीम सीतामढ़ी गई थी। पटना में भी अभी जांच चल रही है। 

विस्तार

दो दवा दुकानों के भौतिक सत्यापन के लिए 2 लाख की घूस लेते सीतामढ़ी के असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर नवीन कुमार को गुरुवार को रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया गया। असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर को सीतामढ़ी में किराए के मकान पर आवेदक दुकानदारों को बुलाकर घूस लेते हुए दबोचा गया। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो की मुख्यालय टीम ने सीतामढ़ी में यह कार्रवाई छह दिन पहले आई शिकायत की प्राथमिक पड़ताल के बाद की। गुरुवार को सीतामढ़ी में गिरफ्तारी के साथ ही पटना में नवीन कुमार के शेखपुरा मोड़ स्थित दुर्गा आश्रम गली वाले आवास पर भी हाउस सर्च किया। ग्राउंड के अलावा चार तल्ले के इस मकान में तलाशी के दौरान दो जमीन के डीड, 7.49 लाख के जेवरात और 90 हजार नकदी की बरामदगी हुई। देर शाम तक तलाशी जारी रही।   

11 को शिकायत, 16 को केस, 17 को गिरफ्तार

सीतामढ़ी के असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर नवीन कुमार ने सीतामढ़ी के सैदपुर निवासी विनोद कुमार सिंह से उनके प्रतिष्ठान एम्पल रेमेडिज प्राइवेट लिमिटेड के भौतिक सत्यापन कर सकारात्मक रिपोर्ट देने और एक अन्य दुकानदार मुकेश कुमार की दुकान की भी ऐसी ही रिपोर्ट बनाने के लिए रिश्वत की मांग रखी थी। विनोद कुमार सिंह ने इसकी शिकायत 11 नवंबर को निगरानी अन्वेषण ब्यूरो में की, जिसके बाद प्राथमिक जांच में जब आरोप सही पाया गया तो 16 नवंबर को केस दर्ज करने के बाद ब्यूरो मुख्यालय की टीम से डीएसपी पवन कुमार के नेतृत्व में एक टीम सीतामढ़ी पहुंची। टीम ने सीतामढ़ी के हनुमान नगर वार्ड पुराना 14 स्थित विनोद कुमार गुप्ता के मकान में किराए पर रह रहे नवीन कुमार को रिश्वत की राशि लेते रंगे हाथ धर दबोचा।  

चम्मच के साथ सुनहरी कटोरी, दो प्रॉपर्टी के पेपर मिले

इस गिरफ्तारी के साथ पटना में असिस्टेंट ड्रग कंट्रोलर के फ्लैट पर पहुंचकर हाउस सर्च किया तो वहां चम्मच के साथ सुनहरी कटोरी और जेवरातों के अलावा प्रॉपर्टी के कागजात हाथ लगे। प्राथमिक तौर पर सामने आया कि 250 ग्राम ज्वेलरी और एक किलो चांदी बरामद हुई है। निगरानी अन्वेषण ब्यूरो के डीएसपी मो. खुर्शीद आलम ने पटना में हाउस सर्च के बाद बताया कि घूसखोरी के आरोप की जांच करने के लिए पटना से ही टीम सीतामढ़ी गई थी। पटना में भी अभी जांच चल रही है। 



S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here