BEGUSARAI: हर्ष फायरिंग से दो बार हवा में चलाई गोली, तीसरी दूल्हे के दोस्त को सीने पर, मौत

0
15



रिसेप्शन पार्टी में फायरिंग के दौरान मारा गया रवि।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

दोस्त के रिसेप्शन में स्टेज पर कुछ लड़कों ने दो बार हवा में फायरिंग की और तीसरी गोली युवक के सीने पर। गोली लगते ही युवक गिरा और फिर देखते ही देखते स्टेज समेत पूरा फंक्शन वीरान हो गया। गोली से घायल हुए युवक का भाई मिन्नतें करता रहा, लेकिन किसी ने उसके परिवार वालों को खबर तक नहीं की। अस्पताल में युवक को मृत घोषित कर दिया गया। पांच घंटे बाद पुलिस को घटना का तब पता चला, जब गश्ती दल को अस्पताल में गोली से लहूलुहान लाश दिखी। मामला बेगूसराय के बलिया लखमिनिया का है। मृतक खगड़िया के महेशखूंट निवासी सच्चिदानंद चौरसिया का बेटा रवि कुमार था।

भाई को हटा रहा था, हटाने नहीं दिया
रवि के भाई अमित कुमार के अनुसार “हर्ष फायरिंग के समय मैंने अपने भाई को हटाने की कोशिश की तो उन लोगों ने हटाने नहीं दिया। इसके बाद दो बार राइफल से हवा में फायरिंग की और फिर अचानक मेरे भाई को छाती में गोली लगी। जो लोग फायरिंग कर रहे थे, उनसे परिचय नहीं क्योंकि हमलोग महेशखूंट के रहने वाले हैं और हमलोग पटना से दोस्त संजय शर्मा की शादी में शरीक होने आए थे। हालांकि, सामने खड़े होंगे तो पहचान लेंगे।” वकील शर्मा के बेटे संजय की शादी के बाद सोमवार रात करीब 10 बजे लखमिनिया फूल चौक शेरानचक गांव में रिसेप्शन के दौरान यह घटना हुई।

12 घंटे बीते, मगर पुलिस के हाथ खाली
अमित ने बताया कि राइफल से फायरिंग करने वालों की कौन कहे, जिस दोस्त की शादी में आए थे उसने या उसके परिजनों ने भी साथ नहीं दिया। सभी तुरंत गायब हो गए। मैं अपने भाई की लाश के साथ 5 घंटे तक इंतजार करता रहा, तब गश्ती के लिए आई पुलिस ने सुबह होने से पहले करीब 3 बजे हमसे भेंट की। घटना के 12 घंटे से ज्यादा बीतने के बावजूद पुलिस के हाथ खाली हैं, हालांकि पुलिस रिसेप्शन पार्टी के वीडियो फुटेज के सहारे घटना को समझने की बात कह रही है।

विस्तार

दोस्त के रिसेप्शन में स्टेज पर कुछ लड़कों ने दो बार हवा में फायरिंग की और तीसरी गोली युवक के सीने पर। गोली लगते ही युवक गिरा और फिर देखते ही देखते स्टेज समेत पूरा फंक्शन वीरान हो गया। गोली से घायल हुए युवक का भाई मिन्नतें करता रहा, लेकिन किसी ने उसके परिवार वालों को खबर तक नहीं की। अस्पताल में युवक को मृत घोषित कर दिया गया। पांच घंटे बाद पुलिस को घटना का तब पता चला, जब गश्ती दल को अस्पताल में गोली से लहूलुहान लाश दिखी। मामला बेगूसराय के बलिया लखमिनिया का है। मृतक खगड़िया के महेशखूंट निवासी सच्चिदानंद चौरसिया का बेटा रवि कुमार था।

भाई को हटा रहा था, हटाने नहीं दिया

रवि के भाई अमित कुमार के अनुसार “हर्ष फायरिंग के समय मैंने अपने भाई को हटाने की कोशिश की तो उन लोगों ने हटाने नहीं दिया। इसके बाद दो बार राइफल से हवा में फायरिंग की और फिर अचानक मेरे भाई को छाती में गोली लगी। जो लोग फायरिंग कर रहे थे, उनसे परिचय नहीं क्योंकि हमलोग महेशखूंट के रहने वाले हैं और हमलोग पटना से दोस्त संजय शर्मा की शादी में शरीक होने आए थे। हालांकि, सामने खड़े होंगे तो पहचान लेंगे।” वकील शर्मा के बेटे संजय की शादी के बाद सोमवार रात करीब 10 बजे लखमिनिया फूल चौक शेरानचक गांव में रिसेप्शन के दौरान यह घटना हुई।

12 घंटे बीते, मगर पुलिस के हाथ खाली

अमित ने बताया कि राइफल से फायरिंग करने वालों की कौन कहे, जिस दोस्त की शादी में आए थे उसने या उसके परिजनों ने भी साथ नहीं दिया। सभी तुरंत गायब हो गए। मैं अपने भाई की लाश के साथ 5 घंटे तक इंतजार करता रहा, तब गश्ती के लिए आई पुलिस ने सुबह होने से पहले करीब 3 बजे हमसे भेंट की। घटना के 12 घंटे से ज्यादा बीतने के बावजूद पुलिस के हाथ खाली हैं, हालांकि पुलिस रिसेप्शन पार्टी के वीडियो फुटेज के सहारे घटना को समझने की बात कह रही है।



S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here