Bihar News: भाकपा नेता बोले- बिहार में भाजपा नेताओं के खिलाफ हो बुलडोजर का इस्तेमाल

0
29


ख़बर सुनें

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने शुक्रवार को बिहार की ‘महागठबंधन’ सरकार से राज्य में भाजपा नेताओं के खिलाफ बुलडोजर का इस्तेमाल करने को कहा। भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अंजान ने विपक्षी नेताओं के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किये जाने का आरोप लगाया। 

अंजान ने कहा कि क्या केवल विपक्षी पार्टियां ही भ्रष्ट हैं। भाजपा का कोई आदमी बेईमान नहीं है। सभी दूध के धुले हैं। मेरी मांग है कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव एसआईटी का गठन कर भाजपा नेताओं की अवैध संपत्ति के बारे में एक श्वेत पत्र जारी करें।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की महागठबंधन सरकार भाजपा नेताओं के जो भी अवैध निर्माण और संपत्तियां हैं, उनपर बुलडोजर चलवाएं। ये बुलडोजर सिर्फ भाजपा शासित राज्यों में ही थोड़े ही चलेगा और राज्यों में भी चलना चाहिए ताकि लोगों के बीच विश्वास पैदा हो। उन्होंने कहा कि अगर नीतीश कुमार और तेजस्वी बुलडोजर नहीं चलवाते हैं तो इसका मतलब होगा कि उनके अंदर नैतिक साहस की कमी है।

जब मीडियाकर्मियों ने अंजान से महागठबंधन सरकार में शामिल होने की बात कही तो उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की राज्य कार्यकारिणी ने यह फैसला किया है कि अगर कोई सम्मानजनक स्थिति होगी तो हमें सरकार में शामिल होने में कोई परहेज नहीं है।

उन्होंने कहा कि लेकिन हमें अब तक कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। और हम गठबंधन सहयोगियों के बीच एकता की कीमत पर मंत्री पद नहीं चाहते हैं। वहीं एक सवाल का जबाव देते हुए भाकपा नेता ने कहा कि पार्टी का मानना है कि कुमार देश में विपक्षी दलों के बीच एकता कायम करने में ‘महत्वपूर्ण भूमिका’ निभाएंगे।

अंजन ने कहा कि एक कमजोर कांग्रेस ने भाजपा को साहस दिया है और उसके अश्वमेध यज्ञ ने बिहार में एक रोडब्लॉक मारा है, वही भूमि जहां आडवाणी की रथ यात्रा रोकी गई थी। राजद प्रमुख और बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने अक्टूबर 1990 में समस्तीपुर में आडवाणी की राम रथ यात्रा रोक दी थी। भाकपा नेता ने सांप्रदायिकता का मुकाबला करने की आवश्यकता पर जोर दिया।

विस्तार

भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ने शुक्रवार को बिहार की ‘महागठबंधन’ सरकार से राज्य में भाजपा नेताओं के खिलाफ बुलडोजर का इस्तेमाल करने को कहा। भाकपा के राष्ट्रीय सचिव अंजान ने विपक्षी नेताओं के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा केंद्रीय एजेंसियों का दुरुपयोग किये जाने का आरोप लगाया। 

अंजान ने कहा कि क्या केवल विपक्षी पार्टियां ही भ्रष्ट हैं। भाजपा का कोई आदमी बेईमान नहीं है। सभी दूध के धुले हैं। मेरी मांग है कि बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव एसआईटी का गठन कर भाजपा नेताओं की अवैध संपत्ति के बारे में एक श्वेत पत्र जारी करें।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की महागठबंधन सरकार भाजपा नेताओं के जो भी अवैध निर्माण और संपत्तियां हैं, उनपर बुलडोजर चलवाएं। ये बुलडोजर सिर्फ भाजपा शासित राज्यों में ही थोड़े ही चलेगा और राज्यों में भी चलना चाहिए ताकि लोगों के बीच विश्वास पैदा हो। उन्होंने कहा कि अगर नीतीश कुमार और तेजस्वी बुलडोजर नहीं चलवाते हैं तो इसका मतलब होगा कि उनके अंदर नैतिक साहस की कमी है।

जब मीडियाकर्मियों ने अंजान से महागठबंधन सरकार में शामिल होने की बात कही तो उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की राज्य कार्यकारिणी ने यह फैसला किया है कि अगर कोई सम्मानजनक स्थिति होगी तो हमें सरकार में शामिल होने में कोई परहेज नहीं है।

उन्होंने कहा कि लेकिन हमें अब तक कोई प्रस्ताव नहीं मिला है। और हम गठबंधन सहयोगियों के बीच एकता की कीमत पर मंत्री पद नहीं चाहते हैं। वहीं एक सवाल का जबाव देते हुए भाकपा नेता ने कहा कि पार्टी का मानना है कि कुमार देश में विपक्षी दलों के बीच एकता कायम करने में ‘महत्वपूर्ण भूमिका’ निभाएंगे।

अंजन ने कहा कि एक कमजोर कांग्रेस ने भाजपा को साहस दिया है और उसके अश्वमेध यज्ञ ने बिहार में एक रोडब्लॉक मारा है, वही भूमि जहां आडवाणी की रथ यात्रा रोकी गई थी। राजद प्रमुख और बिहार के तत्कालीन मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने अक्टूबर 1990 में समस्तीपुर में आडवाणी की राम रथ यात्रा रोक दी थी। भाकपा नेता ने सांप्रदायिकता का मुकाबला करने की आवश्यकता पर जोर दिया।

S

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here